_WZnYPlCnd4IlO55X8xQqT_ZD3-qXsA45Zw4Ko-5V1Y

सीएम ने विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा दस्तक अभियान का किया शुभारम्भ

कोरोना की तरह ही हम संचारी रोगों से भी डटकर मुक़ाबला करेंगे। यह मास्क और दो गज की दूरी वायरस कोविड 19 से ही नहीं बल्कि अन्य बीमारियों से भी मुक्ति दिलाएगी। यह कहना है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का। मुख्यमंत्री बुधवार को अपने आवास से विशेष संचारी रोग नियन्त्रण अभियान तथा दस्तक का शुभारम्भ कर रहे थे। यह अभियान प्रदेश के सभी 75 जिलों में 31 जुलाई तक चालेगा।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी में सिर्फ इन्सिफ़ेलाइटिस से 600 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। वहीं वर्ष 2017 में भी यह आंकड़ा 600 से अधिक था लेकिन 2019 में यही आंकड़ा घटकर मात्र 126 पर आ गया। उन्होने कहा कि 40 वर्षों से जहां सिर्फ एक बीमारी से हजारों बच्चों की जान चली जाती थी वहीं हमारी सरकार के प्रयास से यह बीमारी 60 फीसदी घटी है। इससे होने वाली मौत में 90 फीसदी कमी आई है। उन्होने अनुमान जताया कि इस वर्ष जिस तरह से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए व्यापक जनजागरूकता, स्वच्छता और सेनिटाईजेशन का कार्यक्रम चला गया और प्रदेश को जनहानि से बचाया। इसी तरह हम संचारी रोगों से होनी वाली मौतों को भी कम करेंगे। 

उन्होने कहा कि बारिश में बीमारियों की संभावनाएं भी ज्यादा बढ़ जाती हैं। मलेरिया, इन्सिफ़ेलाइटिस, डेंगू, चिकनगुनिया, काला जार, डायरिया आदि थोड़ी सी असावधानी से किसी के लिए भी जानलेवा साबित हो सकती हैं। इसलिए इसके प्रति सभी को जागरूक होना होगा। सीएम ने अभियान में शामिल होने वाले दल को हरी झंडी भी दिखाई। यह दल घर-घर जाकर संचारी रोगों के बारे में जागरूक करेगा साथ ही ग्रामीण व शहरी इलाकों में इस बीमारी से बचने के लिए छिड़काव किया जाएगा।

आयोजन के अंत में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने सभी का धन्यवाद दिया। साथ ही आश्वस्त किया कि यूपी को बीमारी मुक्त बनाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, विधि मंत्री बृजेश पाठक, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण महानिदेशक डॉ. मिथलेश चतुर्वेदी, सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल समेत अन्य विभागों के अधिकारी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, यूनिसेफ, सीफार व अन्य सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधि मौजूद थे।   

कोरोना के खिलाफ विशेष अभियान आज से

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के खिलाफ चल रहे अभियान के प्रति स्वस्थ्य विभाग को बधाई दिया। उन्होने कहा कि जिस तत्परता के साथ 1 लाख 51 हजार कोरोना हॉस्पिटल में बिस्तर स्वास्थ्य विभाग एवं चिकत्सा शिक्षा विभाग के पास उपलब्ध हैं। हम आज तक 25,000 टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर चुके हैं।

उन्होने उम्मीद जताई कि जल्द ही यह क्षमता 30,000 तक पहुंच जाएगी। सीएम ने बताया कि कल से मेरठ मण्डल (मेरठ , गाज़ियाबाद, गौतमबुद्ध नगर बुलंदशहर, हापुड़ और बाघपत) में शत प्रतिशत सैंपलिंग के की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। साथ ही 5 जुलाई से यही अभियान पूरे प्रदेश में चलेगा। इसके तहत हर नागरिक की स्क्रीनिंग की जाएगी। उन्होने कहा कि मेरा मानना है सर्विलांस मौत के आंकड़ों को रोकने में बहुत प्रभावी भूमिका का निर्वहन कर सकता है।  

कई विभाग मिलकर रोकेंगे संचारी रोग

Loading...

प्रदेश के कई विभाग आपस में समनव्य स्थापित कर विशेष संचारी रोग अभियान को सफल बनाएंगे। इसमें चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (नोडल विभाग), नगर विकास, पंचायती राज / ग्राम्य विकास, पशु पालन, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा विभाग, चिकित्सा शिक्षा,  दिव्यांग जन कल्याण/ समाज कल्याण, कृषि एवं सिंचाई, सूचना विभाग आदि शामिल हैं।

Show More

Related Articles