_WZnYPlCnd4IlO55X8xQqT_ZD3-qXsA45Zw4Ko-5V1Y

दिल्ली में करारी हार के पीछे भी भाजपा के लिए छिपी है खुशखबरी, जानिए कैसे

नई दिल्लीः दिल्ली में 5 साल के लिए फिर से अरविंद केजरीवाल की वापसी हो चुकी है और प्रचंड जीत हासिल करके उन्होंने अपने विरोधियों को पूरी तरह पस्त कर दिया है। दिल्ली के इस चुनावी महासंग्राम में भले ही भारतीय जनता पार्टी को करारी हार मिली हो, लेकिन इस हार के पीछे भी भाजपा के लिए खुशखबरी छिपी हुई है। आइए जानते हैं कैसे-

बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनावों के नतीजे आ चुके हैं। आम आदमी पार्टी (आप) ने 62 सीटों पर जीत के साथ लगातार तीसरी बार वापसी की है। बीजेपी का दिल्ली में वनवास और बढ़ चुका है हालांकि, परिणामों में हार के बाद भी बीजेपी के लिए खुशखबरी भी छिपी है। इसका कारण यह है कि कांग्रेस का जहां दिल्ली में पत्ता साफ हो चुका है वहीं, भगवा दल के वोट शेयर में अच्छी बढ़ोतरी देखने को मिली है।

नतीजों के विश्लेषण से यह साफ हो रहा है कि बीजेपी भले ही बुरी तरह चुनाव हार गई हो लेकिन उसे ज्यादातर विधानसभा सीटों पर अच्छी बढ़त बनाई और उसका वोट शेयर बढ़ा है। दिल्ली के 70 विधानसभा सीटों में से बीजेपी ने इस बार 8 सीटों पर जीत दर्ज की है।
यही नही 8 सीटों पर जीत के अलावा बीजेपी का 63 सीटों पर वोट शेयर बढ़ा है। 20 सीटों पर बीजेपी ने 2015 चुनाव की तुलना में 10 फीसदी से ज्यादा वोट शेयर बढ़ाया है। बीजेपी ने सबसे ज्यादा वोट शेयर नजफगढ़ सीट पर बढ़ाया है। यहां पिछली चुनाव की तुलना में उसका वोट शेयर 21.5 फीसदी बढ़ा है।

इस चुनाव में आम आदमी पार्टी ने बंपर जीत हासिल की है। जहां तक वोट शेयर की बात करें तो 38 सीटों पर आप का वोट शेयर घटा है, हालांकि पिछले चुनाव की तुलना में 5 सीटें ऐसी हैं, जहां आप ने 10 प्रतिशत से ज्यादा वोट शेयर बढ़ाया है। आप ने मुस्तफाबाद विधानसभा सीट पर सबसे ज्यादा 23 फीसदी वोट शेयर बढ़ाया है। इसके अलावा 32 सीटें ऐसी हैं जहां आप का वोट शेयर बढ़ा भी है।

Loading...

बता दें कि मुस्लिम आबादी वाली सीटों जैसे, मुस्तफाबाद, मटिया महल, चांदनी चौक, बल्लीमरान और सीलमपुर जैसे सीटों पर आप के वोटों में जोरदार बढ़त देखने को मिली। इसके अलावा 27 ऐसे विधानसभा सीटें रहीं जहां और आप और बीजेपी दोनों का वोट शेयर बढ़ा है। करावल नगर सीट पर आप के वोट शेयर सबसे ज्यादा घटे। पिछले चुनाव की तुलना में आप को यहां 13.5 प्रतिशत कम वोट मिले।

Show More

Related Articles