_WZnYPlCnd4IlO55X8xQqT_ZD3-qXsA45Zw4Ko-5V1Y

ऐसे फर्क करें कोरोना और सामान्य फ्लू के लक्षण में

कोरोना के इस काल में खांसी और बुखार आते ही लोग दहशत में आ जा रहे हैं। इसकी वजह कोरेाना और सामान्य फ्लू के लक्षणों का आपस में मिलना है। प्रदेश सरकार के हेल्पलाइन नंबर पर रोजाना आ रही सैकड़ों काल इसकी तस्दीक करती हैं।  
 
सवाल यह है कि दोनों में फर्क कैसे किया जाए। क्‍या खांसी और बुखार आते ही आपको कोरोना की जांच करानी चाहिए? माइक्रोबायोलाजिस्ट डॉ. टी0एन0ढोल के मुताबिक दोनों में काफी बारीक फर्क है। शुरुआती लक्षण काफी-कुछ मिलते-जुलते हैं, लेकिन पहचान करना संभव है। डॉ. ढोल एसजीपीजीआई में सीनियर माइक्रोबायोलाजिस्ट रहे हैं। इस वक्त हिन्द इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस में माइक्रोबायोलाजी विभाग के हेड हैं। 
 
डॉ. ढोल के मुताबिक बुखार के साथ अगर सांस लेने में तकलीफ और सूखी खांसी है तो सावधान हो जाना चाहिए। इसके अलावा अगर खांसी के साथ गले में खराश हो रही है तो व्यक्ति फौरन डॉक्टर से संपर्क करे। डाक्टर कोरोना टेस्ट कराएगा और जरूरी दवाएं देगा जिससे पकड़ में आ जाएगा कि मरीज कोरोना से संक्रमित तो नहीं। 
 
डॉ. ढोल ने कहा कि कोरोना में खून में आक्सीजन की कमी (40 से 50 प्रतिशत) हो जाती है। यह भी एक लक्षण है कोरोना को पहचाने का। उन्होंने कहा कि इसकी जांच पल्स आक्सीमीटर नाम की मशीन से किया जा सकता है। इस मशीन को हाथ की किसी उंगली में लगाने पर आक्सीजन लेवल पता चल जाता है जिससे झट कोरोना के बारे में पता चल सकता है।

कोरोना के लक्षण

  • सांस लेने में तकलीफ 
  • गले में खराश होने के साथ सूखी खांसी
  • मांसपेशियों में दर्द
  • बुखार

सामान्य फ्लू के लक्षण   

  • जुकाम (नाक बहना)
  •  बुखार- खांसी
  • सिरदर्द
  • आंखों का लाल होना, पानी आना
     
Show More

Related Articles