_WZnYPlCnd4IlO55X8xQqT_ZD3-qXsA45Zw4Ko-5V1Y

पूर्व नक्सलियों को पार्टी में शामिल कर रही ममता, इस नेता ने लगाया आरोप

नई दिल्लीः दिल्ली में करारी हार मिलने के बाद अब भाजपा की निगाहें ममता के गढ़ बंगाल पर लगी हुई हैं। इस बीच पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि जंगलमहल इलाके में तृणमूल का जनाधार खिसक रहा है, इसलिए ममता बनर्जी पूर्व नक्सलियों की नियुक्ति करके इसे पाने की कोशिश कर रही है।

आपको बता दें कि छत्रधर महतो नक्सली समर्थित पीपुल्स कमेटी अगेंस्ट पुलिस एट्रोसिटीज यानी पीसीएपीए के पूर्व नेता हैं। वे आदिवासी बहुल जंगलमहल इलाके में लालगढ़ आंदोलन के दौरान सुर्खियों में छाए हुए थे। दरअसल, घोष ने जलपाईगुड़ी जिले में नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में भाजपा के बढ़ते जनाधार से डरने लगी हैं।

Loading...

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी पहले कहा करती थीं कि जंगलमहल मुस्कुरा रहा है। लोकसभा चुनाव में हारने के बाद उन्होंने ऐसा कहना बंद कर दिया। उन्होंने कहा कि ‘‘भाजपा की बढ़ती मौजूदगी का मुकाबला करने के लिए तृणमूल पूर्व नक्सली नेताओं और कार्यकर्ताओं को पार्टी में शामिल कर रही है। मैं एक बात स्पष्ट कर दूं, न तो नक्सली और न ही तृणमूल भाजपा को राज्य में रोक पाएगी।’’

दरसअल, छत्रधर महतो को इस महीने की शुरुआत में ही उनके अच्छे आचरण के बाद बंगाल सरकार ने रिहा किया है। पिछले कुछ महीनों से अटकलें लगाई जा रही थीं कि महतो के रिहा होने के बाद उन्हें तृणमूल में शामिल होने की संभावना है।

Show More

Related Articles