_WZnYPlCnd4IlO55X8xQqT_ZD3-qXsA45Zw4Ko-5V1Y

अयोध्या में बनेगा कारसेवकों का शहीद स्तंभ, इनके दर्ज होंगे नाम

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट का ऐलान करने के बाद अब जल्द ही शिलान्यास की तिथि का भी ऐलान होने वाली है। इस बीच खबर आ रही है कि मंदिर परिसर में मंदिर निर्माण के शहीद कारसेवकों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए शहीद स्तंभ का भी निर्माण होगा।

बता दें कि अयोध्या की 67.73 एकड़ जमीन पर भव्य राम मंदिर के साथ शहीद स्तम्भ भी बनेगा, जिसके जरिए मंदिर निर्माण के लिए शहीद कारसेवकों को श्रद्धांजलि देने के साथ सदा के लिए उनका नाम मंदिर परिसर से जुड़ जाएगा। काबिलेगौर है कि इस शहीद स्तंभ में शरद कोठारी और रामकुमार कोठारी-कोलकत्ता, वासुदेव गुप्ता, राजेन्द्र धरकार, रमेश पांडेय-अयोध्या जैसे अनेक शहीद कारसेवकों के नाम दर्ज किए जाएंगे, जिनकी 1989 और 1992 के आंदोलन में जान गई।

Loading...

यही नही इनके अलावा राम मंदिर आंदोलन की अगुवाई करने वाले दाऊ दयाल खन्ना- मेरठ, विजय राजे सिंधिया- ग्वालियर, परमहंस रामचंद्र दास- अयोध्या, महंत अवैद्यनाथ- गोरखपुर, स्वामी वामदेवजी महाराज- वृंदावन, रज्जू भैय्या- प्रयागराज, मोरोपंत पिंगले- नागपुर, कुपसी सुदर्शन- नागपुर, अशोक सिंहल- प्रयागराज, आचार्य गिरिराज किशोर- दिल्ली, ओंकार भावे- दिल्ली, मफल सिंह- दिल्ली, जगद्गुरू पुरूषोत्तमाचार्य- अयोध्या, महेश नारायण सिंह- अयोध्या, श्रीषचन्द्र दीक्षित- लखनऊ, ठाकुर गुरजन सिंह- प्रयागराज, ओम प्रकाशजी- लखनऊ, बीएल शर्मा “प्रेम“- दिल्ली, देवकीनंदन अग्रवाल- प्रयागराज समेत तमाम वरिष्ठ पदाधिकारियों के नाम की पट्टिका भी लगेगी।

इस स्तंभ को लेकर विश्व हिंदू परिषद के अवध प्रांत के मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन में जिन लोगों ने कुर्बानी दी है, उनको श्रद्धांजलि देने का यह एक बेहतर तरीका है। कारसेवकों ने घर परिवार की फिक्र न करते हुए अपने आप को भगवान राम को समर्पित कर दिया। उनके नाम को स्वर्णिम अक्षरों में अंकित करना हम सभी की जिम्मेदारी है।

Show More

Related Articles