_WZnYPlCnd4IlO55X8xQqT_ZD3-qXsA45Zw4Ko-5V1Y

मैडम तुषाद की तर्ज पर काशी में बनेगा संग्रहालय, बनेंगी ऐसी मूर्तियां

लखनऊः भगवान शिव की नगरी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के नाम एक और उपलब्धि जुड़ने वाली है। पर्यटन विभाग अब यहां पर मैडम तुषाद म्यूजियम की तर्ज पर ‘काशी गौरव संग्रहालय‘ स्थापित करने जा रहा है। जिसमें महान विभूतियों की मूर्ति स्थापित की जाएगी, जो कि पत्थर और कांस्य की होंगी।

प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पर्यटन विभाग ’काशी गौरव संग्रहालय’ स्थापित करने जा रहा है। शहरी क्षेत्र में संग्रहालय स्थापना के लिए जमीन की तलाश शुरू हो गई है। पर्यटन एवं धर्मार्थ राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी की मानें तो काशी की धरती ने कई महान विभूतियों को जन्म दिया है। एक ही छत के नीचे इन सभी को उचित सम्मान और स्थान मिले, ऐसी योजना है।

यहां की उपलब्धियों के साथ ही इनका जीवन परिचय होगा। यही नही आगे पर्यटन मंत्री ने कहा कि अभी तक 85 नामों की सूची तैयार की गई है। मैडम तुषाद म्युजियम की तर्ज पर यहां पर काशी की विभूतियों की मूर्ति स्थापित होगी। तुषाद में मोम की मूर्तियां बनती है लेकिन यहां पर पत्थर और कांस्य की मूर्तियां बनेगी। मोम की मूर्ति बनाने व उसके रखरखाव में खर्च अधिक होगा।

काशी गौरव संग्रहालय में मूर्ति निर्माण में चुनार के पत्थरों का इस्तेमाल होगा ताकि मीरजापुर के पत्थरों की विशेषता पूरी दुनिया जाने। पर्यटन एवं धर्मार्थ राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने आगे कहा कि बनारस में 10 नए घाटों का निर्माण भी होगा। पर्यटन विभाग खांका खींच रहा है। पर्यटकों को ध्यान में रखते हुए इन घाटों को इस तरीके से विकसित किया जाएगा पर्यटन से जुड़ी सभी सुविधाएं वहां उपलब्ध हों।

इसके अलावा स्मार्ट सिटी योजना के तहत काशी की सभी गलियों का वेनिस की गलियों की तर्ज पर विकास किया जाएगा। नीलकंठ तिवारी ने बताया कि प्रथम चरण में राजमंदिर, कालभैरव, कामेश्वर महादेव, गढ़वासी टोला की गलियों को लिया गया है। 10 दिन के अंदर इनका टेंडर जारी होगा।

Show More

Related Articles